फर्जी लोन ऐप से बचने के लिए RBI ला रहा है DIGITA, ऐसे करें पहचान

Mobile App ने भारत में क्रांति ला दी है, खासकर बैंकिंग और फाइनेंस सेक्टर में। लेकिन, इनके साथ ही फर्जी लोन ऐप भी आ गए हैं जो लोगों को ठगने का काम करते हैं। इनसे बचने के लिए RBI ‘डिजिटल इंडिया ट्रस्ट एजेंसी (DIGITA)’ ला रहा है।

यहां कुछ ज़रूरी बातें बताई गई हैं जिनसे आप फर्जी लोन ऐप से बच सकते हैं:

RBI की गाइडलाइंस:

  • RBI ने लोन देने की प्रक्रिया के लिए गाइडलाइंस बनाई हैं।
  • लोन ऐप को इनका पालन करना होता है।
  • ऐप की वेबसाइट देखें और चेक करें कि वे किस बैंक या NBFC के साथ टाई-अप किए हुए हैं।
  • जानकारी न होने पर ऐप से बचें।

प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से डाउनलोड करें:

  • फर्जी ऐप से बचने के लिए, ऐप को केवल Google Play Store या Apple App Store से डाउनलोड करें।
  • कभी भी ईमेल, SMS या सोशल मीडिया लिंक से ऐप डाउनलोड न करें।

केवाईसी की जांच:

  • सही ऐप हमेशा आपसे KYC (Know Your Customer) प्रक्रिया पूरी करने के लिए कहेंगे।
  • यदि कोई ऐप KYC नहीं मांग रहा है तो सावधान हो जाएं।
  • KYC प्रक्रिया थोड़ी लंबी लग सकती है, लेकिन यह आपकी सुरक्षा के लिए है।

लोन एग्रीमेंट:

  • वैध ऐप आपको हमेशा लोन एग्रीमेंट देंगे।
  • इसमें लोन राशि, प्रोसेसिंग शुल्क, ब्याज दर और रीपेमेंट शेड्यूल की जानकारी होगी।
  • यदि कोई ऐप एग्रीमेंट नहीं देता है तो वह संदिग्ध है।
  • हमेशा लोन एग्रीमेंट मांगें और उसे ध्यान से पढ़ें।

एडवांस पेमेंट:

  • फर्जी लोन ऐप अक्सर लोन देने से पहले ही शुल्क की मांग करते हैं।
  • यदि आपका लोन ऐप भी ऐसा करता है तो सतर्क हो जाएं।

ऑनलाइन रिव्यू पढ़ें:

  • किसी भी लोन ऐप का उपयोग करने से पहले, Play Store, Google या Facebook पर जाकर उसके बारे में रिव्यू पढ़ें।
  • यदि नकारात्मक प्रतिक्रियाएं हैं तो उस ऐप से बचें।

इन आसान टिप्स से आप न केवल खुद को बचा सकते हैं बल्कि अपनी मेहनत की कमाई को भी सुरक्षित रख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *